कोरोना वायरस (Coronavirus) से बचाव के लिए पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने 24 मार्च को देश को संबोधित करते हुए पूरे देश में 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा की थी. पूरे देश में सख्ती से लॉकडाउन का पालन हो रहा है. लेकिन कुछ लोग ऐसे हैं जो लॉकडाउन को मजाक समझ रहे हैं और लोग बाहर घूम रहे हैं और लॉकडाउन के बावजूद दुकानें खोल रहे हैं. सरकार ने पुलिस से उल्लंघन करने वालों पर सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं. टिकटॉक (TikTok) पर ऐसे कई वीडियो वायरल (Viral Video) हो रहे हैं, जहां पुलिस लाठी से पीटते हुए लोगों को घर में जाने को कह रही है. ऐसा ही एक वीडियो टिकटॉक (TikTok Viral Video) पर छाया हुआ है, जहां पुलिस ने एक नाई को कटिंग की दुकान खोलने पर पिटाई कर दी. 

वीडियो में देखा जा सकता है कि बाकी दुकानें बंद हैं, लेकिन नाई ने दुकान खोली है. ऐसे में पुलिस पहुंचती है और नाई को लाठियों से पीटती है. टिकटॉक यूजर ने वीडियो पोस्ट करते हुए लिखा, ”कटिंग करने वाले ने कटिंग की दुकान खोली थी. पुलिस वालों ने मसाज कर दी.” टिकटॉक पर अब तक इस वीडियो के 90 हजार से ज्यादा व्यूज हो चुके हैं. साथ ही 4 हजार से ज्यादा लोगों ने इस वीडियो को पसंद किया है. 

देखें VIDEO:

@dinesh75449♬ original sound – Om Banna7773™

भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. अब तक कुल 694 लोग इसकी चपेट में आ चुके हैं. 16 लोगों की मौत हो चुकी है. गुरुवार को तीन COVID-19 संक्रमित मरीजों की मौत हो गई. वहीं, 88 नए मामले सामने आए.

टिप्पणियां

इस वायरस से निपटने के लिए केंद्र और राज्य सरकारें युद्ध स्तर पर कदम उठा रही है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कोरोना वायरस महामारी और उसके आर्थिक प्रभाव से निपटने के लिये बृहस्पतिवार को खासतौर से गरीबों, बुजुर्गों, स्वयं सहायता समूहों और निम्न आग वर्ग को राहत देते हुए 1.70 लाख करोड़ रुपये की ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना’ की घोषणा की.

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत राशन की दुकानों से 80 करोड़ लोगों को अगले तीन महीने तक प्रति व्यक्ति पांच किलो गेहूं या चावल तथा इसके अलावा प्रति राशन कार्ड एक किलो दाल मुफ्त मिलेगी. सीतारमण ने पैकेज की घोषणा करते हुए कहा कि 20.5 करोड़ महिला जनधन खाताधारकों को अगले तीन महीने तक हर महीने 500 रुपये दिये जायेंगे ताकि उन्हें कुछ अतिरिक्त मदद मिल सके.



Source link